top 10 best Indian old songs in Lyrics Hindi, evergreen top 10 song lyrics in hindi

एवरग्रीन के गाने की पॉप्युरिटी जैसे समय जारहा है वैसे ही बढ़ रही। हमने यहां पुराने गानों का एक कलक्शन के लिरिक्स रखे है। अगर आपको पसंद आए तो कॉमेंट जरूर करना और अगर आपको ओर भी इसी श्रेणी चाहिए तो भी बता देना।

 top 10 best Indian old songs in Lyrics Hindi, evergreen top 10 song lyrics in hindi

एवरग्रीन टॉप 10 रोमांटिक हिंदी सांग लिरिक्स




    एवरग्रीन टॉप 10 रोमांटिक हिंदी सांग लिरिक्स
    एवरग्रीन टॉप 10 रोमांटिक हिंदी सांग लि रिक्स

    गाना - ना कजरे की धार

        गायक - पंकज उदाश
        फिल्म - मोहरा ( 1994)

        लिरिक्स

    ना कजरे की धार
    ना मोतियों के हार
    ना कोई किया सिंगार
    फिर भी कितनी सुंदर हो
    तुम कितनी सुन्दर हो
    ना कजरे की धार
    ना मोतियों के हार
    ना कोई किया सिंगार
    फिर भी कितनी सुंदर हो
    तुम कितनी सुन्दर हो

    मन में प्यार भरा
    और तन में प्यार भरा
    जीवन में प्यार भरा
    तुम तो मेरे प्रियवर हो
    तुम्हीं तो मेरे प्रियवर हो

    सिंगार तेरा यौवन, यौवन ही तेरा गहना - 2 times
    तू ताज़गी फूलों की, क्या सादगी का कहना
    उड़े खुशबू जब चले तू - 2 times,
    बोले तो बजे सितार
    ना कजरे की धार
    ना मोतियों के हार
    ना कोई किया सिंगार
    फिर भी कितनी सुंदर हो
    तुम कितनी सुन्दर हो

    सारी दुनियाँ हरजाई, तेरे प्यार में हैं सच्चाई - 2 times
    इसलिए छोड़ के दुनिया, तेरी ओर खींची चली आई
    थी पत्थर, तूने छूकर - 2 times
    सोना कर दिया खरा
    मन में प्यार भरा
    और तन में प्यार भरा
    जीवन में प्यार भरा
    तुम तो मेरे प्रियवर हो
    तुम्हीं तो मेरे प्रियवर हो

    तेरा अंग सच्चा सोना, मुस्कान सच्चे मोती - 2 times
    तेरे होंठ हैं मधुशाला, तू रूप की है ज्योति
    तेरी सूरत, जैसे मूरत - 2 times
    मैं देखू बार-बार
    ना कजरे की धार
    ना मोतियों के हार
    ना कोई किया सिंगार
    फिर भी कितनी सुंदर हो
    तुम कितनी सुन्दर हो
    मन में प्यार भरा
    और तन में प्यार भरा
    जीवन में प्यार भरा
    तुम तो मेरे प्रियवर हो
    तुम्हीं तो मेरे प्रियवर हो

    गाना - आप की नजरों ने समझा प्यार के काबिल

        गायक - लता मंगेशकर
         फिल्म - अनपढ़ (1962)

    लिरिक्स

    आपकी नज़रों ने समझा
    प्यार के काबिल मुझे
    दिल की ऐ धड़कन ठेहर जा
    मिल गयी मंजिल मुझे
    आपकी नज़रों ने समझा

    जी हमें मंज़ूर है
    आपका ये फैसला
    जी हमें मंज़ूर है
    आपका ये फैसला
    केह रही है हर नज़र
    बन्दा परवर शुक्रिया

    हँस के अपनी ज़िन्दगी में
    कर लिया शामिल मुझे
    दिल की ऐ धड़कन ठेहर जा
    मिल गयी मंजिल मुझे
    आपकी नज़रों ने समझा

    आपकी मंज़िल हूँ मैं
    मेरी मंज़िल आप हैं
    आपकी मंज़िल हूँ मैं
    मेरी मंज़िल आप हैं

    क्यों मैं तूफाँ से डरूँ
    मेरा साहिल आप हैं
    कोई तूफानों से कह दे
    मिल गया साहिल मुझे
    दिल की ऐ धड़कन ठेहर जा
    मिल गयी मंजिल मुझे
    आपकी नज़रों ने समझा

    पड़ गई दिल पर मेरे
    आपकी परछाईयाँ
    पड़ गई दिल पर मेरे
    आपकी परछाईयाँ
    हर तरफ बजने लगीं
    सैकड़ों शहनाईयां
    दो जहां की आज खुशियाँ
    हो गईं हासिल मुझे

    आपकी नज़रों ने समझा
    प्यार के काबिल मुझे
    दिल की ऐ धड़कन ठेहर जा
    मिल गयी मंजिल मुझे
    आपकी नज़रों ने समझा

    गाना - बहोत प्यार करते है सनम आपको

        गायक - अनुराधा पौडवाल
        फिल्म - साजन (1991)

    लिरिक्स

    बहुत प्यार करते हैं तुमको सनम कसम चाहे ले लो ख़ुदा की कसम बहुत प्यार करते हैं तुमको सनम

     हमें हर घडी आरजू है तुम्हारी होती है कैसी सनम बेकरारी मिलेंगे जो तुमको तो बताएँगे हम बहुत प्यार करते हैं तुमको सनम
      हमारी ग़ज़ल है तसव्वुर तुम्हारा तुम्हारे बिना अब न जीना गवारा तुम्हें यूँ ही चाहेंगे जब तक है दम बहुत प्यार करते हैं तुमको सनम
      सागर की बाँहों में मौजें हैं जितनी हमको भी तुमसे मोहब्बत है उतनी के ये बेकरारी ना अब होगी कम बहुत प्यार करते हैं तुमको सनम

    गाना - लग जा गले

         गायक - लता मंगेशकर
         फिल्म - वह कौन थी?

    लिरिक्स

    हसीं रात
    लग जा गले कि फिर
    ये हसीं रात हो न हो
    शायद फिर इस जनम में
    मुलाक़ात हो न हो
    लग जा गले कि फिर

    ये हसीं रात हो न हो
    शायद फिर इस जनम में
    मुलाक़ात हो न हो
    लग जा गले
    हमको मिली हैं आज ये

    घड़ियाँ नसीब से
    हमको मिली हैं आज ये
    घड़ियाँ नसीब से
    जी भर के देख लीजिये

    हमको क़रीब से

    फिर आपके नसीब में
    ये बात हो न हो
    शायद फिर इस जनम में
    मुलाक़ात हो न हो
    लग जा गले
    पास आइये कि
    हम नहीं आएंगे बार-बार
    पास आइये कि
    हम नहीं आएंगे बार-बार
    बाहें गले में डाल के
    हम रो लें ज़ार-ज़ार
    आँखों से फिर ये प्यार कि
    बरसात हो न हो
    शायद फिर इस जनम में
    मुलाक़ात हो न हो
    लग जा गले कि फिर ये
    हसीं रात हो न हो
    शायद फिर इस जनम में
    मुलाक़ात हो न हो
    लग जा गले

    गाना - कभी खुशी कभी गम

          गायक - लता मंगेशकर
          फिल्म - कभी खुशी कभी गम

    लिरिक्स

    आ आ आ आ आ आ
    कभी ख़ुशी कभी ग़म
    न जुदा होंगे हम
    कभी ख़ुशी कभी ग़म

    आ आ आ आ आ आ आ आ आ आ
    मेरी साँसों में तू ही समाया
    मेरा जीवन तो है तेरा साया
    मेरी साँसों में तू ही समाया
    मेरा जीवन तो है तेरा साया
    तेरी पूजा करून मैं तो हरदम
    यह है तेरे करम
    कभी ख़ुशी कभी ग़म
    न जुदा होंगे हम
    कभी ख़ुशी कभी ग़म
    मेरी साँसों में तू ही समाया
    मेरा जीवन तो है तेरा साया
    तेरी पूजा करून मैं तो हरदम
    यह है तेरे करम
    कभी ख़ुशी कभी ग़म
    न जुदा होंगे हम
    कभी ख़ुशी कभी ग़म

    सुबह श्याम चरणो में दिए हम जलायें
    देखें जहाँ भी देखें तुझको ही पाएं
    सुबह श्याम चरणो में दिए हम जलायें
    देखें जहाँ भी देखें तुझको ही पाएं
    इन लबों पे तेरा बस तेरा नाम हो
    इन लबों पे तेरा बस तेरा नाम हो
    प्यार दिल से कभी भी न हो कम
    यह है तेरे करम
    कभी ख़ुशी कभी ग़म
    न जुदा होंगे हम
    कभी ख़ुशी कभी ग़म

    यह घर नहीं है मंदिर है तेरा
    इस में सदा रहे तेरा बसेरा
    यह घर नहीं है मंदिर है तेरा
    इस में सदा रहे तेरा बसेरा
    खुश्बूं से तेरी यह महेकता रहें
    खुश्बूं से तेरी यह महेकता रहें
    आये जाए भले ही कोई मौसम
    यह है तेरे करम
    कभी ख़ुशी कभी ग़म
    न जुदा होंगे हम
    कभी ख़ुशी कभी ग़म

    मेरी साँसों में तू ही समाया
    मेरा जीवन तो है तेरा साया
    मेरी साँसों में तू ही समाया
    मेरा जीवन तो है तेरा साया
    तेरी पूजा करून मैं तो हरदम
    यह है तेरे करम
    कभी ख़ुशी कभी ग़म
    न जुदा होंगे हम
    कभी ख़ुशी कभी ग़म
    आ आ आ आ आ आ
    कभी ख़ुशी कभी ग़म
    न जुदा होंगे हम
    कभी ख़ुशी कभी ग़म.

    गाना - तुज मेे रब दिखता है

        गायक - रूपम कुमार राठौड़
        फिल्म - रब ने बनादी जोडी

    लिरिक्स

    तू ही तो जन्नत मेरी
    तू ही मेरा जूनून
    तू ही तो मन्नत मेरी
    तू ही रूह का सुकून
    तू ही अंखियों की ठंडक
    तू ही दिल की है दस्तक
    और कुछ ना जानूं मैं, बस इतना ही जानूं

    तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ
    तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ
    सजदे सर झुकता है, यारा मैं क्या करुँ
    तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ

    कैसी है ये दूरी?
    कैसी मजबूरी?
    मैंने नज़रों से तुझे छू लिया
    हो-हो-हो, कभी तेरी खुशबू
    कभी तेरी बातें
    बिन मांगे ये जहाँ पा लिया

    तू ही दिल की है रौनक
    तू ही जन्मों की दौलत
    और कुछ ना जानूं, बस इतना ही जानूं

    तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ
    तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ
    सजदे सर झुकता है, यारा मैं क्या करुँ
    तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ

    वसदी वसदी वसदी, दिल दी दिल विच वसदी
    नसदी नसदी नसदी, दिल रो वे थे नसदी
    रब ने बना दी जोड़ी, हाय
    वसदी वसदी वसदी, दिल दी दिल विच वसदी
    नसदी नसदी नसदी दिल रो वे थे नसदी

    छम छम आयें, मुझे तरसाए
    तेरा साया छेड़ के चूमता
    हो-हो-हो, तू जो मुस्काए
    तू जो शरमाये
    जैसे मेरा है ख़ुदा झूमता

    तू ही मेरी है बरकत, तू ही मेरी इबादत
    और कुछ ना जानूं, बस इतना ही जानूं

    तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ
    तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ
    सजदे सर झुकता है, यारा मैं क्या करुँ
    तुझमें रब दिखता है, यारा मैं क्या करूँ

    वसदी वसदी वसदी, दिल दी दिल विच वसदी
    नसदी नसदी नसदी, दिल रो वे थे नसदी
    रब ने बना दी जोड़ी, हाय

    गाना - उडजा काले कौआ तेरे मोह बीच

        गायक - उदित नारायण, अलका याग्निक, निहार
        फिल्म - गदर एक प्रेम कथा

    लिरिक्स

    उड़जा काले कावाँ, तेरे मुँह विच खण्ड पावाँ
    लेजा तू संदेशा मेरा, मै सदके जावाँ

    बाग़ों में फिर झूले पड़ गये
    पक गई मिठियाँ अम्बियाँ
    ये छोटी सी ज़िन्दगी के, राता लम्बियाँ लम्बियाँ
    ओ घर आजा परदेसी के तेरी मेरी इक जिन्दडी -२

    छम छम करता आया मौसम
    प्यार के गीतों का, हो..
    छम छम करता आया मौसम
    प्यार के गीतों का
    रस्ते पे अँखियाँ रस्ता देखे
    बिछड़े मींतों का

    आज मिलन की रात ना छेड़ो बात जुदाई बाली
    मैं चुप तू चुप, प्यार सुने,बस प्यार ही बोले ख़ाली
    ओ घर आजा परदेसी, के तेरी मेरी इक जिन्दडी
    होये, ओ घर आजा परदेसी, के तेरी मेरी इक जिन्दडी

    ओ मितरा, ओ यारा, यारी तोड़के मत जाना, हो
    ओ मितरा, ओ यारा, यारी तोड़के मत जाना
    मैंने जग छोडा, तू मुझको छोड़के मत जाना

    ऐसा हो नहीं सकता, हो जाये तो मत घबराना
    मैं दौड़ी आऊँगी, तू बस एक आबाज लगाना
    ओ घर आजा परदेसी, के तेरी मेरी इक जिन्दडी
    ओ घर आजा परदेसी, के तेरी मेरी इक जिन्दडी

    उड़जा काले कावा तेरे मुँह विच खण्ड पावाँ
    लेजा तू संदेशा मेरा मै सदके जावाँ
    बाग़ों में फिर झूले पड़ गये
    पक गई मिठियाँ अम्बियाँ
    ये छोटी सी ज़िन्दगी दे राता लम्बियाँ लम्बियाँ
    ओ घर आजा परदेसी के तेरी मेरी इक जिन्दरी

    ओ घर आजा परदेसी, के तेरी मेरी इक जिन्दरी
    ओ घर आजा परदेसी, के तेरी मेरी इक जिन्दरी

     गाना - सुन मितवा

           गायक - अलका याग्निक, उदित नारायण
           फिल्म - लगान ( 2001 )

    लिरिक्स

    हर सन्त कहे हर साधु कहे सच और साहस है जिस के मन में अन्त में जीत उसी की है 
     आजा रे आजा रे भले कितने लम्बे हों रास्ते, हो थके न तेरा ये तन, हो आजा रे आजा रे सुन ले पुकारे डगरिया रहे न रास्ते तरसते, हो तू आजा रे इस धरती का है राजा तू, ये बात जान ले तू कठिनाई से टकरा जा तू, नहीं हार मान ले तू मितवा सुन मितवा, तुझ को क्या डर है रे ये धरती अपनी है, अपना अम्बर है रे ओ मितवा सुन मितवा तुझ को क्या डर है रे ये धरती अपनी है, अपना अम्बर है रे तू आजा रे ...
     अ: 
    सुनलो रे मितवा जो है तुम्हरे मन में, वो ही हमरे मन में जो सपना है तुम्हरा, सपना वो ही हमरा है जीवन में उ: हाँ, चले हम लिये आसा के दिये नयनन में दिये हमरी आसाओं के कभी बुझ न पायें अ: कभी आँधियाँ जो आ के इन को बुझायें उ: मितवा सुन मितवा, तुझ को क्या डर है रे ... 
    उ: 
    सुन लो रेे मितवा पुरवा भी गायेगी, मस्ती भी छायेगी मिल के पुकारो तो, फूलों वाली जो रुत है आयेगी अ: हाँ, सुख भरे दिन दुःख के बिन लायेगी हम तुम सजायें आओ सपनों के मेले उ: रहते हो काहे बोलो, तुम यूँ अकेले मितवा सुन मितवा, तुझ को क्या डर है रे ...

     हर सन्त कहे हर साधु कहे सच और साहस है जिस के मन में अन्त में जीत उसी की है ओ मितवा, सुन मितवा ...


    गाना- हम तुमको निगाहों में

         गायक - उदित नारायण, श्रेया घोसाल
         फिल्म - गर्व - प्राइड & होनर

    लिरिक्स

    ओ ओ ओ ओ, ओ ओ ओ.. हम तुमको निगाहों में इस तरह छुपा लेंगे हम तुमको निगाहों में इस तरह छुपा लेंगे तुम चाहे बचो जितना हम तुमको चुरा लेंगे हो.. तेरी आशिक़ी में जाना तेरी आशिक़ी में जाना दुनिया भुला देंगे तुम चाहे बचो जितना हम तुमको चुरा लेंगे हो हे हे हे हे.. हे हे हे हे… हे हे हे हे, ला ला ला… माथे की बिंदिया बोले हाथों का कंगना बोले पैरों की पायल बोले सुन ले मेरे यारा, सुन ले मेरे यारा ओ तारों से मांग सजा दूं दामन में खुशियाँ बिछा दूं दुल्हन मैं तुझको बना दूं सुन ले मेरे यारा, सुन ले मेरे यारा ज़िन्दगी मिल गयी, हर ख़ुशी मिल गयी हो आशिक़ी मिल गयी
    हम दिल को मोहब्बत का हो  हम दिल को मोहब्बत का आइना बना लेंगे तुम चाहे बचो जितना हम तुमको चुरा लेंगे हो.. हे हे हे हे.. हे हे हे हे… हे हे हे हे, ला ला ला… ओ आँखों से दिल में उतरके तेरी साँसों में बिखरके धड्कुंगा मैं दिल बनके सुनले मेरे यारा, सुनले मेरे यारा साँसों में खुशबू बनके, तेरी चाहत में संवरके रूह में उतर जाऊंगी सुनले मेरे यारा, सुनले मेरे यारा दिल्लगी में सनम बेख़ुदी मिल गयी हो रौशनी मिल गयी दीवानगी में जाना हो दीवानगी में जाना ख़ुद को भुला देंगे तुम चाहे बचो जितना हम तुमको चुरा लेंगे हो हम तुमको निगाहों में इस तरह छुपा लेंगे तुम चाहे बचो जितना हम तुमको चुरा लेंगे हो.. तेरी आशिक़ी में जाना दुनिया भुला देंगे तुम चाहे बचो जितना हम तुमको चुरा लेंगे हो

    गाना-  ओ साथी रे तेरे बिना भी क्या जीना

           गायक - किशोर कुमार, लता मंगेशकर
           फिल्म - मुकुंदर का सिकंदर

    लिरिक्स

    (ओ साथी रे, तेरे बिना भी क्या जीना फूलों में कलियों में, सपनों की गलियों में तेरे बिना कुछ कहीं न तेरे बिना भी क्या जीना) -२
     ओ साथी रे, तेरे बिना भी क्या जीना तेरे बिना भी क्या जीना जाने कैसे अनजाने ही, आन बसा कोई प्यासे मन में अपना सब कुछ खो बैठे हैं, पागल मन के पागलपन में दिल के अफ़साने... दिल के अफ़साने, मैं जानूँ तू जाने, और ये जाने कोई न तेरे बिना भी क्या जीना ओ साथी रे... हर धड़कन में प्यास है तेरी, साँसों में तेरी खुशबू है इस धरती से उस अम्बर तक, मेरी नज़र में तू ही तू है प्यार ये टूटे न ... प्यार ये टूटे न, तू मुझसे रूठे न, साथ ये छूटे कभी न तेरे बिना भी क्या जीना ओ साथी रे ... तुझ बिन जोगन मेरी रातें, तुझ बिन मेरे दिन बंजारन मेरा जीवन जलती बूँदें, बुझे-बुझे मेरे सपने सारे तेरे बिना मेरी थ्रेएदोत्स तेरे बिना मेरी, मेरे बिना तेरी, ये ज़िंदगी ज़िंदगी न तेरे बिना भी क्या जीना ओ साथी रे...


    जय हिन्द।  जय भारत ।

      टिप्पणी पोस्ट करें

      0 टिप्पणियां